शहीद पर आपत्तिजनक टिप्पणी कर घिरीं प्रज्ञा सिंह ठाकुर

भोपाल लोकसभा सीट से बीजेपी उम्मीदवार साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर का शहीद हेमंत करकरे को लेकर दिया गया आपत्तिजनक बयान उनकी मुश्किलें बढ़ा सकता है। चुनाव आयोग ने प्रज्ञा ठाकुर के बयान पर संज्ञान लेते हुए जांच शुरू कर दी है। उधर, भारतीय पुलिस सेवा (IPS) के असोसिएशन ने एक उम्मीदवार द्वारा दिवंगत हेमंत करकरे को लेकर दिए इस तरह के विवादित बयान को अपमानजनक करार दिया है। कांग्रेस पार्टी ने भी साध्वी के बयान को लेकर बीजेपी को घेरने की कोशिश की। हालांकि कुछ देर बाद बीजेपी ने साध्वी प्रज्ञा के बयान से दूरी बना ली। पार्टी ने कहा, ‘यह उनका निजी बयान है। बीजेपी का स्पष्ट मानना है कि स्वर्गीय हेमंत करकरे आतंकियों से बहादुरी से लड़ते हुए वीरगति को प्राप्त हुए। बीजेपी ने हमेशा उन्हें शहीद माना है।

चुनाव आयोग कर रहा जांच
मध्य प्रदेश के मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने बताया, ‘भोपाल से बीजेपी उम्मीदवार प्रज्ञा सिंह ठाकुर के 26/11 हमले के शहीद (मुंबई ATS के पूर्व चीफ हेमंत करकरे) पर की गई उनकी टिप्पणियों के खिलाफ शिकायत मिली है।’ अधिकारी ने कहा कि हमने इसका संज्ञान लिया है और मामले की जांच शुरू कर दी गई है। 

IPS असोसिएशन ने कहा, शहीदों का सम्मान कीजिए
IPS असोसिएशन ने ट्वीट कर बयान की निंदा की है। ट्वीट में कहा गया, ‘अशोक चक्र से सम्मानित दिवंगत IPS हेमंत करकरे ने आतंकियों से लड़ते हुए सर्वोच्च बलिदान दिया। वर्दी पहने हम सभी लोग एक उम्मीदवार के अपमानजनक बयान की निंदा करते हैं और मांग करते हैं कि हमारे शहीदों का सम्मान किया जाए।’

यह भी देखे :-

कांग्रेस का अटैक, माफ न करने लायक जुर्म
उधर, लोकसभा चुनाव के बीच कांग्रेस पार्टी ने साध्वी के बयान को लेकर बीजेपी पर हमला बोला है। कांग्रेस के प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि बीजेपी ने 26/11 के शहीद हेमंत करकरे को देशद्रोही घोषित करने का माफ न करने लायक जुर्म किया है। उन्होंने कहा, ‘बीजेपी का देशद्रोही चेहरा आज उजागर हो गया है। मुंबई हमले में पाक आतंकियों से लड़ते-लड़ते देश के जिस जांबाज हेमंत करकरे ने अपनी कुर्बानी दे डाली उन्हें ही मोदी जी की चहेती बीजेपी की भोपाल से प्रत्याशी प्रज्ञा ठाकुर ने आज देशद्रोही करार दे डाला।’ वहीं, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी ट्वीट कर कहा कि हेमंत करकरे ने भारत की रक्षा करते हुए अपनी जान दे दी। उनके साथ सम्मान से पेश आना चाहिए। 

Please follow and like us:
error0

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp chat