राहुल गांधी बोले- मर जाऊंगा, लेकिन मोदी के माता-पिता का अपमान नहीं करूंगा

उज्जैन, नीमच। लोकसभा चुनाव के आखिरी दौर में मध्य प्रदेश के मालवा-निमाड़ की 8 सीटों पर वोटिंग होनी है। ऐसे में दोनों ही पार्टियों के बड़े नेताओं की ताबड़तोड़ रैलियां और रोड शो यहां हो रहे हैं। सोमवार को प्रियंका गांधी के इंदौर और उज्जैन में रोड शो के बाद आज राहुल गांधी मालवा के मिशन पर आए हैं। नीमच की रैली के बाद राहुल गांधी उज्जैन के तराना में एक जनसभा को संबोधित करने पहुंचे।

राहुल गांधी उज्जैन जिले के तराना में बोले कि, “मैं प्रधानमंत्री के इंटरव्यू देख रहा हूं, उसमें वो रोजगार, 15 लाख और किसानों की बात नहीं कर रहे। वो बता रहे हैं कि आम किस तरह खाता हूं। बता रहे हैं कुर्ता काट लिया क्योंकि सूटकेस में जगह नहीं होती, फिर कहते हैं मेरे पास तो कपड़े ही नहीं। मैं कहता हूं सूटकेस में कपड़े नहीं तो जगह कैसे भर गई?

यहां भी उन्होंने नोटबंदी, जीएसटी और बेरोजगारी के मुद्दे पर पीएम मोदी को कोसा। उन्होंने कहा कि,” न्याय योजना के जरिए हम किसानों, महिलाओं और बेरोजगार के खातों में हम हर महीने 6 हजार रुपए डालेंगे। जबकि नरेंद्र मोदी ने साल के 6 हजार रुपए देने की बात कही है। जैसे ही लोगों के पास पैसा आएगा, अर्थव्यवस्था पटरी पर आ जाएगी। लोगों को नौकरियां और काम मिलेना लगेगा। दुकानदार और छोटे व्यापारियों का धंधा चल पडे़गा। न्याय योजना आपका हक। ये आपका जो नुकसान किया गया है, उसकी भरपाई है।”

यहां उन्होंने फिर से कर्जमाफी का राग अलापा। कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि, “भाजपा के लोग कर्जमाफी पर झूठ बोल रहे हैं। शिवराज सिंह ने कहा कि कर्जामाफ नहीं हुआ है। इसे समझाने के लिए राहुल गांधी ने मुख्यमंत्री कमलनाथ को माइक पर बुलाया और शिवराज सिंह के रिश्तेदारों की कर्जमाफी से जुड़े सबूत पेश किए। हजारों भाजपा कार्यकर्ताओं का भी कर्जा माफ होगा।”

कांग्रेस अध्यक्ष ने यहां पीएम मोदी को लेकर कहा कि, “वो मुझे और मेरे पिता, दादी का अपमान करते हैं। लेकिन मैं मर जाऊंगा फिर भी कभी पीएम मोदी की मां और पिता का अपमान नहीं करूंगा। हम प्यार की राजनीति करते हैं।”

गर्मी के बावजूद राहुल गांधी को सुनने के लिए बड़ी संंख्या में लोग पहुंचे हुए हैं। यहां वो कांग्रेस उम्मीदवार बाबूलाल मालवीय के समर्थन में एक रैली करेंगे। बता दें कि एक दिन पहली ही प्रियंका गांधी उज्जैन में रोड शो कर चुकी हैं।

इससे पहले राहुल गांधी ने नीमच से अपने मालवा-निमाड़ दौरे की शुरुआत की थी। यहां उन्होंने मंदसौर-नीमच सीट पर कांग्रेस प्रत्याशी मीनाक्षी नटराजन के समर्थन में सभा की। यहां राहुल गांधी ने फिर से मंदसौर गोलीकांड का मुद्दा उठाया। उन्होंने कहा कि, “यहां किसानों पर गोली चलाई गई। बेरोजगारी के मुद्दे पर भी उन्होंने पीएम मोदी को घेरते हुए कहा कि, पिछले 45 साल में ये ऐसा दौर है, जब सबसे ज्यादा बेरोजगारी है। उन्होंने पीएम मोदी पर तंज कसते हुए कहा कि, मोदी जी आपने आम खाना सिखा दिया, आपने कुर्ता काटना सिखा दिया, अब आप देश को ये बता दीजिए कि आपने पांच सालों में हिंदुस्तान के बेरोजगार युवकों के लिए क्या किया ?

किसानों के लिए ये बोले राहुल गांधी

राहुल गांधी ने कहा कि, “मंदसौर के किसानों पर गोली चली थी। मुझे बुलाया था। मैं आया था। हमने घोषणा पत्र में लिख दिया है। मंदसौर, मध्य प्रदेश और हिंदुस्तान का कोई भी किसान कर्जा न लौटाने के लिए 2019 के चुनाव के बाद कर्जा न लौटाने के लिए जेल में नहीं डाला जाएगा। वहीं उन्होंने किसानों के लिए अलग से बजट पेश करने की बात भी दोहराई। उन्होंने कहा कि भारत के इतिहास में ऐसा पहली बार होगा, जब दो बजट पेश होंगे। किसानों के लिए पहले बजट पेश होगा। साल की शुरुआत में मंदसौर के किसानों को बता दिया जाएगा कि इतना पैसा आपके लिए दिया जाएगा। आपके लिए कितना समर्थन मूल्य बढ़ाया जाएगा, इसकी जानकारी दी जाएगी। मौसम की मार से होने वाले नुकसान के लिए कितना मुआवजा मिलेगा, ये पहले ही बता दिया जाएगा।”

बेरोजगारी को लेकर केंद्र सरकार को घेरा

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि, हमने अपने घोषणा पत्र में व्यापार शुरू करने के लिए एक बात लिखी है। बिना मंजूरी के युवा अपना व्यापार शुरू कर सकेंगे। तीन साल बाद सरकार से मंजूरी लेना होगी। दस लाख युवाओं को पंचायत में नौकरी देंगे।

राहुल गांधी ने पुलवामा के शहीदों की बात करते हुए पीएम को घेरा। उन्होंने कहा कि, “पुलवामा में सीआरपीएफ के लोग शहीद हुए, लेकिन पीएम मोदी ने नीमच आकर उनकी बात नहीं सुनी। हमने पैरामिलिट्री फोर्स के लोगों से बात की। उन्होंने बताया कि हम शहीद होते हैं, लेकिन हमें शहीद का दर्जा नहीं मिलता है। सारे पैरामिलिट्री फोर्सेस के जवानों को 2019 के चुनाव के बाद शहीद का दर्जा मिलेगा।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *