साल 1846 से 2019 तक कब कैसे बदले जम्मू-कश्मीर रियासत के हालात!

Source – News18

जम्मू-कश्मीर और लद्दाख को दो केंद्रशासित प्रदेश बनाए जाने के बाद समझिए आखिर कश्मीर का इतिहास क्या है? अंग्रेजों के कब्जे से लेकर केंद्रशासित प्रदेश बनने तक जम्मू-कश्मीर में कब क्या महत्वपूर्ण घटना घटी?

जम्मू-कश्मीर और लद्दाख को दो केंद्रशासित प्रदेश बनाए जाने के बाद समझिए आखिर कश्मीर का इतिहास क्या है? अंग्रेजों के कब्जे से लेकर केंद्रशासित प्रदेश बनने तक जम्मू-कश्मीर में कब क्या महत्वपूर्ण घटना घटी?
1846 में अंग्रेजों ने सिखों से छीनकर कश्मीर घाटी, जम्मू, लद्दाख, गिलगित-बालटिस्तान पर कब्जा जमाया. लेकिन बाद में उन्होंने हर्जाना लेकर जम्मू के राजा गुलाब सिंह को ट्रांसफर कर दिया.
1953 में कश्मीर के सदर-ए-रियासत शेख अब्दुल्ला को तत्कालीन प्रधानमंत्री नेहरू के आदेश पर गिरफ्तार किया गया. इसके साथ ही उनकी सरकार को भी बर्खास्त कर दिया गया.
1989 से कश्मीर में आतंकवाद की शुरुआत हुई. जो आजतक इसका शिकार है. 1990 में कश्मीरी पंडितों को जबरन घाटी से निकालने पर मजबूर किया.
1999 में पाकिस्तान ने घुसपैठ के जरिए युद्ध छेड़ा लेकिन भारतीय सीमा ने मुंह तोड़ जवाब दिया. साल 2018 तक आते-आते कश्मीर ने कई सरकारें और कई बार राष्ट्रपति शासन देखा.

मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल में 100 दिनों के अंदर ही जम्मू-कश्मीर का विशेष राज्य का दर्जा खत्म कर दिया गया. इसकी जगह दो केंद्रशासित प्रदेश बना दिए गए. जम्मू-कश्मीर और लद्दाख को दो अलग केंद्रशासित प्रदेश बना दिया गया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *