कम्प्यूटर क्रांति के जनक और सशक्त ग्रामीण भारत के पक्षधर थे राजीव गांधी

मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने किया राजीव जी का पुण्य स्मरण

मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय श्री राजीव गांधी की 75वीं वर्षगाँठ पर उनका पुण्य स्मरण करते हुए कहा है कि वे कम्प्यूटर क्रान्ति के जनक थे। उन्होंने कहा कि उस समय कुछ लोगों ने इसे रोजगार के अवसरों के लिये घातक बताते हुए इसका विरोध किया था। श्री कमल नाथ ने कहा कि आज इसी डिजिटल युग में सबसे ज्यादा रोजगार युवाओं को मिले। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमें वे हमेशा याद रहेंगे और उनके काम हमें सदैव प्रेरित करेंगे।

श्री कमल नाथ ने कहा कि पंडित जवाहर लाल नेहरु ने आधुनिक भारत का सपना देखा और एक मजबूत भारत की नींव रखी। राजीव गांधी जी ने 21 वीं सदी के भारत का सपना देखा और इसे साकार करने की शुरूआत की। राजीव जी ने ग्रामीण भारत की मजबूती के लिए पंचायत राज को ताकतवर बनाया। उन्होंने 73 वें संशोधन के जरिए पहली बार गाँव के लोगों को प्रजातंत्र के अधिकारों और कर्तव्यों का अहसास कराया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि आज हमें ऐसे राजनीतिज्ञ की कमी महसूस हो रही है। उनकी शहादत से हमने एक ऐसा राजनीतिज्ञ खो दिया, जो राजनीति में युवा सोच के साथ रचनात्मकता का पक्षधर था। मुख्यमंत्री ने कहा कि स्वर्गीय राजीव गाँधी भारतीय राजनीति के ऐसे युवा राजनेता थे, जिन्होंने आधुनिक भारत और ग्रामीण भारत के बीच की खाई को पाटने का काम किया था। उन्होंने आधुनिक भारत और ग्रामीण भारत का समान रूप से विकास करने की नींव रखी

मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने कहा कि श्री गांधी ने भारतीय राजनीति में सरकारी योजनाओं का डिलेवरी सिस्टम कमजोर होने को स्वीकारा था। यही कारण रहा कि वे पंचायत राज के जरिए पूरे सिस्टम को मजबूत बनाना चाहते थे। राजीव जी 21 वीं सदी के भारत का युवा चेहरा थे, जिन्होंने भारत की व्यवस्था और स्वरूप में आमूल-चूल परिवर्तन कर इसे युवा देश बनाने की शुरूआत की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *