PWD मंत्री सज्जन सिंह वर्मा बोले- ‘प्रदेश अध्यक्ष पद से काफी ऊंचा है सिंधिया का कद’

मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में कांग्रेस अध्यक्ष (Congress state president) पद को लेकर सरगर्मी तेज है. मुख्यमंत्री कमलनाथ (CM Kamal Nath) ने शुक्रवार को दिल्ली (New Delhi) में पार्टी हाईकमान सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) से मुलाकात की है. ऐसे में अब ये कयास लगाए जा रहे हैं कि जल्द ही एमपी के नए प्रदेश अध्यक्ष के नाम का ऐलान हो जाएगा.

प्रदेश अध्यक्ष पद से काफी ऊंचा है सिंधिया का कद

इधर, कांग्रेस महासचिव ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) की प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष पद पर दावेदारी को पीडब्ल्यूडी मंत्री (PWD Minister) सज्जन सिंह वर्मा (Sajjan Singh Verma) ने अफवाह (Rumour) बताया है. उन्होंने कहा कि कुछ लोगों द्वारा उड़ाई गई ये अफवाह है कि सिंधिया प्रदेश अध्यक्ष पद के लिए दावेदारी पेश करने जा रहे हैं. उन्होंने कहा कि सिंधिया का कद इतना बड़ा है कि उन्हें प्रदेश अध्यक्ष के लिए दावेदारी पेश करने की जरूरत ही नहीं है. जब जो पद चाहेंगे वो उन्हें मिल जाएगा, क्योंकि हाईकमान उनकी कार्यशैली और क्षमता को बखूबी जानता है. उन्होंने कहा कि कांग्रेस महासचिव के पद से काफी छोटा है प्रदेश अध्यक्ष का पद.

बाला बच्चन की पैरवी

सज्जन सिंह वर्मा ने गृहमंत्री बाला बच्चन (Bala Bachchan) की एक बार फिर पैरवी करते हुए कहा कि बाला बच्चन को गृहमंत्री के साथ-साथ प्रदेश अध्यक्ष भी बना देना चाहिए. उन्होंने कहा कि ये मेरा अपना मत है और ये उसी तरह है जिस तरह मंत्री इमरती देवी (Imarti Devi) सिंधिया को महाराष्ट्र (Maharashtra) की कमान दिए जाने को लेकर अपनी बात कह रही हैं.

इस कांग्रेस नेता की है ख्वाहिश कि ज्योतिरादित्य सिंधिया ही बनें PCC चीफ

ज्योतिरादित्य सिंधिया (JYOTIRADITYA SCINDIA) भले ही खफा चल रहे हों लेकिन गोविंद राजपूत (GOVIND RAJPUT) तो उन्हें ही मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी का अध्यक्ष (PCC CHIEF)बनते देखना चाहते हैं. उन्होंने यहां तक कह दिया कि मध्य प्रदेश में सिंधिया और कमलनाथ के (KAMALNATH)की वजह से ही कांग्रेस सत्ता में आयी है इसलिए सिंधिया को सम्मान दिया जाना चाहिए.

कमलनाथ-ज्योतिरादित्य हैं चेहरा
कमलनाथ सरकार में मंत्री गोविंद सिंह राजपूत भी चाहते हैं कि ज्योतिरादित्य सिंधिया ही पीसीसी चीफ बनें. उन्होंने कहा ज्योतिरादित्य सिंधिया महासचिव और कमलनाथ मुख्यमंत्री हैं. पार्टी नेतृत्व दोनों को सम्मान देकर कोई फैसला करेगी तो मध्य प्रदेश में खुशी होगी.राज्य में सब जानते हैं ज्योतिरादित्य सिंधिया और कमलनाथ की जोड़ी की वजह से ही राज्य में कांग्रेस की सरकार बनी है.


मैं क्या बोलूं
ज्योतिरादित्य सिंधिया के भाजपा में जाने की अटकलों पर गोविंद राजपूत ने कहा कि मैं इस बारे कुछ नहीं कह सकता. सिंधिया देश के बड़े नेता हैं राहुल गांधी उन पर विश्वास करते है, ऐसा कुछ नहीं है.

सिंधिया से मिले राजपूत​
इसी हफ्ते ज्योतिरादित्य सिंधिया महाकाल के दर्शन के लिए उज्जैन आए थे. उस दौरान ज्योतिरादित्य सिंधिया उनसे ख़फा दिखे थे. वो गोविंद राजपूत से मिले बिना ही लौट गए थे. पूरे दौरे के दौरान गोविंद राजपूत इंतज़ार करते रहे लेकिन ज्योतिरादित्य सिंधिया उनसे बात तक नहीं की थी. हालांकि परिवहन विभाग का अवॉर्ड लेने दिल्ली आए राजपूत को यहां सिंधिया ने वक़्त दे दिया और राजपूत उनसे मिलकर लौटे.


Please follow and like us:
error0

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp chat