ग्वालियर दौरे पर पहुंचे ज्योतिरादित्य सिंधिया बोले-PCC चीफ पद के लिए हाईकमान का फैसला मंज़ूर होगा

ज्‍योतिरादित्‍य सिंधिया के भाजपा (BJP) नेताओं के संपर्क होने की चर्चा हो रही है. मध्‍य प्रदेश (Madhya Pradesh) में अगले कुछ दिनों में प्रदेश अध्‍यक्ष पद पर नियुक्ति होने की संभावना जताई जा रही है.

कांग्रेस नेता (Congress Leader) ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) दो दिन के दौरे पर आज ग्वालियर (Gwalior) पहुंचे. स्टेशन पर समर्थकों की भारी भीड़ ने उनका स्वागत किया. पीसीसी (pcc chief)चीफ पद के लिए दावेदारी के मुद्दे पर सिंधिया बोले कि मैं किसी अगर-मगर बात का जवाब नहीं देता. हालांकि बाद में कहा- हाईकमान जो फैसला करेगा वह मंज़ूर होगा.
गुटबाजी पर बोले- कांग्रेस एक है.

मध्य प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए सिंधिया की दावेदारी के बाद उनका आज का यह दौरा शक्ति प्रदर्शन माना जा रहा है. उनके समर्थक अपने ‘महाराज’ को पीसीसी चीफ बनवाने के लिए लगातार दबाव बढ़ा रहे हैं. भोपाल में पोस्टर के बाद अब ‘मेरा नेता मेरा स्वाभिमान’ स्लोगन के साथ विज्ञापन निकाले गए हैं.

पार्टी को न्यौता

कांग्रेस महासचिव ज्योतिरादित्य सिंधिया दो दिन ग्वालियर में रहेंगे. इस दौरान वो कई कार्यक्रमों में शामिल होंगे. वो सुबह साढ़े नौ बजे शताब्दी एक्सप्रेस से ग्वालियर पहुंचे. सिंधिया समर्थक उनके स्वागत के लिए रेलवे स्टेशन पर जुटे. पीसीसी चीफ पद के लिए उनकी दावेदारी और बीजेपी में जाने की अटकलों के बीच सिंधिया का ये दौरा काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है.

उनके स्वागत के बहाने एक तरह से शक्ति प्रदर्शन स्टेशन से ही शुरू हो गया. जिला कांग्रेस ने ज्योतिरादित्य सिंधिया के स्वागत के लिए पूरी पार्टी को न्‍योता दिया था. इसके लिए बकायदा अख़बारों में विज्ञापन तक दिया गया.

मध्य प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष पद पर नई नियुक्ति को लेकर पिछले कुछ दिन से सिंधिया समर्थक लगातार दबाव की राजनीति कर रहे हैं. वे अपने नेता को पीसीसी चीफ बनते देखना चाहते हैं. कमलनाथ मंत्रिमंडल में शामिल सिंधिया समर्थक मंत्री बार-बार कई मंचों से और सार्वजनिक रूप से उन्हें पीसीसी चीफ बनाने की मांग कर चुके हैं. राहुल गांधी के कांग्रेस अध्यक्ष पद से इस्तीफ़े के बाद उन्हें पार्टी अध्यक्ष बनाने तक की मांग समर्थक कर चुके हैं. ऐसे पोस्टर भोपाल में पीसीसी दफ्तर के सामने लगाए गए थे. हालांकि, पार्टी में प्रतिक्रिया होते ही तत्काल पोस्टर वहां से हटा दिया गया था.

बीजेपी में जाने की अटकलें
ज्योतिरादित्य सिंधिया को महाराष्ट्र का प्रभारी बनाए जाने औऱ मध्य प्रदेश में तवज्जो न मिलने से नाराजगी की ख़बरें भी सामने आई हैं. इस बीच चर्चा यह भी है कि ज्योतिरादित्य सिंधिया बीजेपी नेताओं के संपर्क में हैं. उनके बीजेपी में जाने की अटकलें भी लगाई जाने लगी हैं. हालांकि, सीएम औऱ पीसीसी चीफ कमलनाथ ने उनकी नाराज़गी जैसी किसी बात से इंकार किया. अब जबकि पीसीसी चीफ पद पर नई नियुक्ति होना है, ज्योतिरादित्य सिंधिया ऐसे माहौल में अपने क्षेत्र ग्वालियर आ रहे हैं, तो ज़ाहिर है ग्वालियर में हो रही सियासी गहमागहमी राजधानी भोपाल तक पहुंचेगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *