मध्य और पश्चिम क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी को मिला सौ-सौ करोड़ का सौभाग्य पुरस्कार

मध्य क्षेत्र ने 7 लाख 85 हजार और पश्चिम क्षेत्र ने 4 लाख घरों को किया रोशन 

मध्य प्रदेश के पॉवर सेक्टर के इतिहास में आज का दिन स्वर्णिम अक्षरों में दर्ज हो गया है। आज राज्य की मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी भोपाल और पश्चिम क्षेत्र विद्युत वितरण कपनी इदौर को गुडगाँव में ऊर्जा मंत्रियों के राष्ट्रीय सम्मेलन में 100-100 करोड़ रूपये का सौभाग्य अवार्ड (प्रधानमंत्री सहज बिजली हर घर योजना) प्रदान किया गया। केन्द्रीय ऊर्जा, नवीन एवं नवकरणीय ऊर्जा राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री आर.के.सिंह ने पुरस्कार प्रदान किया। मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी को श्रेणी-1 और पश्चिम क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी को श्रेणी-2 में प्रथम पुरस्कार मिला है।

प्रदेश के ऊर्जा मंत्री श्री प्रियव्रत सिंह की उपस्थिति में अपर मुख्य सचिव ऊर्जा श्री आई.सी.पी.केशरी, पूर्व अध्यक्ष एवं प्रबंध संचालक एम.पी.पॉवर मैनेजमेंट कंपनी जबलपुर तथा वर्तमान में प्रमुख सचिव लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी श्री संजय कुमार शुक्ल, प्रबंध संचालक म.प्र.मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी भोपाल डॉ. संजय गोयल ने यह पुरस्कार प्राप्त किया। सौभाग्य योजना में उत्कृष्ट कार्य निष्पादन के लिए मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी सहित राज्य की तीनों बिजली वितरण कम्पनियों के कार्मिकों को भी पुरस्कृत किया गया।मध्य क्षेत्र कम्पनी देश की पहली सौभाग्य कम्पनी

प्रदेश की मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी भोपाल देश की पहली बिजली वितरण कंपनी बनी है जिसने प्रधानमंत्री सहज बिजली हर घर योजना ”सौभाग्य” में 7 लाख 85 हजार 233 घरों को रोशन किया है। पश्चिम क्षेत्र विद्युत विद्युत वितरण कंपनी इंदौर द्वारा 4 लाख 4 हजार 284 घरों का विद्युतीकरण किया गया।ऊर्जा मंत्री ने दी बधाई

ऊर्जा मंत्री, श्री प्रियव्रत सिंह ने दोनों कम्पनी सहित प्रदेश के उत्पादन से लेकर पारेषण एवं वितरण संकाय के सभी अधिकारियों एवं कर्मचारियों को विशेषकर सौभाग्य योजना से जुड़े सभी स्टेकहोल्डरों को बधाई और शुभकामनाएँ दी हैं। उन्होनें कहा कि हर घर को रोशनी देना सरकार की प्राथमिकता है। प्रदेश में उद्योग-धंधे के साथ हर श्रेणी के उपभोक्ताओं को सतत् विद्युत आपूर्ति प्रदान करना प्रदेश सरकार का लक्ष्य है।रणनीति बनाकर हासिल किया मुकाम

भारत सरकार द्वारा 25 सितम्बर 2017 को लागू प्रधानमंत्री सहज बिजली हर घर योजना ”सौभाग्य” का उद्देश्य देश के ग्रामीण क्षेत्रों के सभी ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्र के बी.पी.एल घरों में विद्युत प्रदाय करना था। योजना के घोषित होते ही वितरण केन्द्र, तहसील, संभाग, वृत्त और जिला स्तर पर मॉनीटरिंग कमेटियाँ बनाई गई। विभिन्न स्तर पर कनेक्शन प्रदान करने के टारगेट दिये गये। जिला स्तर पर इलेक्ट्रीकल कॉन्ट्रेक्टर की टीम तैयार की गई। सामग्री का प्रबंधन निर्धारित समय-सीमा में किया गया तथा सूचना प्रौद्योगिकी टीम द्वारा विभागीय स्तर पर अधिकारियों को लक्ष्य दिए गए। आईटी टीम ने पोर्टल तैयार कर सभी स्तरों पर योजना के क्रियान्वयन की मॉनीटरिंग की। अपर मुख्य सचिव ऊर्जा श्री आई.सी. पी. केशरी द्वारा मैदानी दौरे तथा हर क्षेत्रीय मुख्यालय पर बैठक कर छोटी-बड़ी मुश्‍किलों को दूर किया गया।

Please follow and like us:
error0

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp chat