भोपाल क्या राघौगढ़ से भी लड़ने तैयार हैं शिवराज सिंह, कहा- पार्टी एक बार कह भर दे

Bhopal: Madhya Pradesh Chief Minister Shivraj Singh Chouhan addresses a press conference, at BJP State headquarters in Bhopal, Wednesday, Dec. 12, 2018. BJP State President Rakesh Singh is also seen.(PTI Photo)(PTI12_12_2018_000200B)

भिंड। अमेठी लोकसभा सीट पर हमेशा गांधी परिवार के खाते में रही है। लेकिन इस बार कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी को अमेठी सुरक्षित नहीं लग रही। वे अमेठी में हार के डर से केरल के वायनाड से भी चुनाव लड़ रहे हैं। मेरा मन नहीं है कि लोकसभा का चुनाव लड़ूं। पार्टी कहेगी तो भोपाल क्या राघौगढ़ से भी लड़ जाउंगा। यह बात प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने पत्रकारों से चर्चा में कही। वे रविवार को भिंड-इटावा रोड पर स्थित एक निजी स्कूल के शुभारंभ कार्यक्रम में शामिल होने के लिए आए थे।

पूर्व सीएम चौहान ने कहा कि कांग्रेस ऐसी पार्टी है जो वंशवाद से बाहर नहीं निकल पाई है। पार्टी में सिर्फ एक ही परिवार का शुरू से अधिकार है। पूर्व सीएम से जब भोपाल लोस सीट पर पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह के मुकाबले का उम्मीदवार न मिलने का सवाल पूछा तो उन्होंने कहा कि भोपाल की लोकसभा सीट पर हमारी पार्टी का एक साधारण कार्यकर्ता कांग्रेस के किसी भी दिग्गज प्रत्याशी को हरा सकता है। विदिशा में पत्नी साधना सिंह के चुनाव लड़ने के सवाल पर पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि वे चुनाव नहीं लड़ेंगी। कार्यकर्ता प्रेम से नाम लेते हैं। पूरा विदिशा परिवार की तरह है। मुख्यमंत्री कमलनाथ के 22 सीट जीतने के दावे पर उन्होंने कहा कि दावे हैं दावों का क्या है।

शिवराज का आरोप- कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष आदतन झूठ बोलते हैं

भोपाल। प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने कहा है कि कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी आदतन झूठ बोलते हैं। कांग्रेस की झूठ की सजा लोकसभा चुनाव में जनता उन्हें देगी। प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बने हुए 104 दिन हो गए लेकिन किसानों का कर्ज माफ नहीं हुआ। जबकि कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा था कि अगर 10 दिन के भीतर किसानों का कर्ज माफ नहीं हुआ तो वे मुख्यमंत्री बदल देंगे। इस हिसाब से तो कांग्रेस के 10 मुख्यमंत्री प्रदेश में बदल जाने चाहिए थे।

शिवराज सिंह सोमवार को दिल्ली में मीडिया से बातचीत कर रहे थे। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने मध्य प्रदेश में झूठ और छल के आधार पर किसानों को ठगा है। कर्ज माफ नहीं हुआ। उन्होंने उज्जैन के किसान का उदाहरण देते हुए कहा कि किसान को उम्मीद थी की कर्ज माफ हो जाएगा लेकिन नहीं हुआ। इससे परेशान होकर किसान ने आत्महत्या कर ली। ऐसे कई उदाहरण हैं।  

आचार संहिता के नाम पर बंद की योजना: शिवराज सिंह ने कहा कि प्रदेश की कांग्रेस सरकार ने आचार संहिता लगने से पहले ही किसानों को आचार संहिता लगने के कारण कर्ज माफ नहीं होने का एसएमएस भेज दिया। जबकि सभी जानते ही आचार संहिता लगने से पहले   शुरू हुए योजनाओं पर आचार संहिता का कोई प्रभाव नहीं पड़ता। कर्ज माफ करने के लिए किसानों की मंशा शुरू से ही झूठी थी।

योजनाएं बंद कर रही सरकार: उन्होंने कहा कि कांग्रेस की सरकार बनते ही प्रदेश में जिस तरह के हालात बने हैं, वे प्रदेश के इतिहास में कभी नहीं हुए। भाजपा सरकार द्वारा शुरू की गईं जनकल्याणकारी योजनाएं कांग्रेस सरकार ने बंद कर दी। गरीबों को मुफ्त में इलाज के लिए 15 साल से चली आ रही पंडित दीनदयाल योजना कांग्रेस द्वारा बंद कर दी गई है। इसी तरह गर्भवती महिलाओं के लिए शुरू की गई योजना भी बंद कर दी गई है। 

चुनाव लड़ने पर कहा: भोपाल से चुनाव लड़ने के सवाल पर शिवराज सिंह ने कहा कि ये पार्टी तय करेगी कि वे कहां से चुनाव लड़ेंगे। हालांकि इस बारे में ज्यादा बात करने पर मना करते हुए उन्होंने कहा कि जल्द ही इस बारे में आपको मालूम चल जाएगा। मेरे बारे में हर निर्णय पार्टी ही लेगी। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *