पत्रकार बनने के लिए क्या करे

मानव जीवन में पत्रकारिता का एक महत्वपूर्ण स्थान है, भारत में पत्रकारिता का इतिहास लगभग दो सौ वर्ष पुराना है, पत्रकारिता विभिन्न माध्यम, जैसे समाचार पत्र, पत्रिकाएँ, रेडियो, टेलीविजन, इंटरनेट, सोशल मीडिया नें  व्यक्ति से लेकर समूह तक और देश से लेकर सम्पूर्ण विश्व को एक सूत्र में बांध दिया है, यह एक ऐसा क्षेत्र है, जिसमें आप कुछ रचनात्मक कर सकते है, जहाँ आप अपने गुणों को मनपसंद विषयो के साथ और निखार सकते है, ऐसा सिर्फ पत्रकारिता के करियर में संभव है, आप एक सफल पत्रकार कैसे बन सकते है ? इसके बारें में आपको इस पेज पर विस्तार से बता रहें है |

किसी  न्यूज़, घटना अथवा अन्य किसी जानकारी को एकत्रित कर मिडिया के माध्यम से लोगो तक पहुँचाना पत्रकारिता कहलाता है, पत्रकारिता के कई अंग होते हैं, जैसे कैमरा मेन, न्यूज़ रिपोर्टर, न्यूज़ एडिटर, एंकर, फोटोग्राफर आदि, इस क्षेत्र में जानें के लिए आपको इनमें से किसी एक विषय चयन कर उससे सम्बंधित सम्पूर्ण जानकारी प्राप्त करना होगा, पत्रकारिता में कुछ ऐसे पद होते है, जो कुछ वर्षों के अनुभव के बाद प्राप्त होते है |

पत्रकारिता में करियर बनानें के लिए किसी भी स्ट्रीम से बारहवीं उत्तीर्ण होना आवश्यक है,  इसके साथ-साथ आपका व्यक्तित्व, साहसी, ईमानदार, परिश्रमी, संयमी आदि गुणों का होना आवश्यक है, एक सफल पत्रकार बननें के लिए आप कोई एक या उससे अधिक कोर्स कर सकते हैं |

पत्रकार बननें हेतु कोर्स

पत्रकारिता करनें हेतु डिप्लोमा, सर्टिफिकेट या डिग्री कोर्स भारत के कई बड़े कॉलेजों में उपलब्ध है, यह कोर्स आप ग्रेजुएशन के बाद भी कर सकते है,  ग्रेजुएशन के बाद पीजी डिप्लोमा इन मास कम्यूनिकेशन, डिप्लोमा इन पब्लिक रिलेशन कर सकते हैं, वहीं, सीधे दो वर्षीय पीजी डिग्री प्राप्त कर सकते है, तथा पोस्ट ग्रेजुएशन करनें के पश्चात पीएचडी या एम फिल कर सकते हैं |

पत्रकारिता करनें हेतु  मुख्य कोर्सेज

क्रम स०            कोर्स
1.बैचलर डिग्री इन मास कम्यूनिकेशन
2.पीजी डिप्लोमा इन ब्रॉडकास्ट जर्नलिज्म
3.एमए इन जर्नलिज्म
4.डिप्लोमा इन जर्नलिज्म
5.जर्नलिज्म एंड पब्लिक रिलेशन
6.पीजी डिप्लोमा इन मास मीडिया

बैचलर ऑफ़ आर्ट  (जर्नलिज्म)

इस कोर्स के अंतर्गत, आपको पत्रकारिता से सम्बंधित महत्वपूर्ण जानकारी दी जाती है, पत्रकारिता में कैरियर बनानें हेतु यह कोर्स काफी अच्छा होता है, क्योंकि आप यह कोर्स काफी कम खर्च के साथ कर सकते है |

शैक्षणिक योग्यता50 प्रतिशत अंको के साथ बारहवीं |
कोर्स की अवधि3 वर्ष |
कोर्स की फीस25,000 से 1 लाख रुपये, (वार्षिक) |

बैचलर ऑफ़ साइंस (एनीमेशन और मल्टीमीडिया)

पत्रकारिता से सम्बंधित, यह एक टेक्निकल डिग्री होती है, इस कोर्स को करनें के पश्चात आप पत्रकारिता में एक बड़े पद जैसे, न्यूज़  एडिटर, विडियो मेकर, विसुअल एडिटिंग ग्राफिक आदि की नौकरी प्राप्त कर सकते है |

शैक्षणिक योग्यतासाइंस से  50 प्रतिशत अंको के साथ बारहवीं |
कोर्स की अवधि3 वर्ष |
कोर्स की फीस50,000 रुपये से लेकर 1,50,000 रुपये, (वार्षिक) |

बैचलर ऑफ़ जर्नलिज्म एवं मॉस कम्युनिकेशन

इस कोर्स के अंतर्गत आपको बेसिक से लेकर एडवांस पत्रकारिता की जानकारी प्रदान की जाती हैं, इस कोर्स को करनें के पश्चात  आप न्यूज़ चेनल, प्रिंट मीडिया, रिपोर्टर, एडिटर आदि पदों पर जॉब प्राप्त कर सकते हैं |

शैक्षणिक योग्यतासाइंस,  50 प्रतिशत अंको के साथ बारहवीं |
कोर्स की अवधि3 वर्ष |
कोर्स की फीस50 हजार से 2.5 लाख रुपये, (वार्षिक) |

पत्रकारिता से सम्बंधित डिप्लोमा कोर्स

  • मास्टर ऑफ़ आर्ट (जर्नलिज्म)
  • मास्टर ऑफ़ आर्ट  (मॉस कम्युनिकेशन)
  • एग्जीक्यूटिव डिप्लोमा इन जर्नलिज्म
  • पी जी डिप्लोमा इन जर्नलिज्म एवं मॉस कम्युनिकेशन
  • पी जी डिप्लोमा इन ब्रॉडकास्ट जर्नलिज्म

पत्रकारिता में करियर

1.प्रिंट जर्नलिज्म

यह पत्रकारिता का सबसे लोकप्रिय क्षेत्र है,  इसके अंतर्गत मुख्य रूप से मैग्जीन, अखबार के लिए कार्य किया जाता हैं |

2.इलेक्ट्रॉनिक जर्नलिज्म

इलेक्ट्रॉनिक जर्नलिज्म पत्रकारिता के अंतर्गत ऑडियो, वीडियो, टीवी, रेडियो के माध्यम से विकसित और लोकप्रिय क्षेत्र है | इस क्षेत्र में टीवी सैटेलाइट, केबल सर्विस और नई तकनीकों के माध्यम से पत्रकारिता की जाती है |

3.वेब पत्रकारिता

पत्रकारिता के इस क्षेत्र में विजिटर्स का  फीडबैक अर्थात आप न्यूज मेकर से सीधे प्रश्न पूछ सकते हैं  |

4.पब्लिक रिलेशन

यह क्षेत्र पत्रकारिता के अंतर्गत, किसी व्यक्ति, संस्थान की छवि को लोगों की नजर में सकारात्मक रुप से प्रस्तुत करना होता है,  पब्लिक रिलेशन का कोर्स करने के बाद बिजनेस हाउसेज, पॉलिटिकल पर्सन, सेलेब्रेटी और संस्थानों के लिए काम किया जाता है |

पत्रकार के अधिकार

  • सार्वजनिक मुद्दों पर सार्वजनिक रूप से बहस ,चर्चा,परिचर्चा करना
  • किस भी अमेचर का प्रकाशन और मुद्रण
  • किसी भी विचार या वैचारिक मत का मुद्रण और प्रकाशन करना
  • किस भी श्रोत से जनहित की सूचनाएं एवम तथ्य एकत्रित करना
  • सरकारी विभागों,सरकारी उपक्रमों सरकारीप्राधिकर्णों और लोकसेवको कार्यों एवम कार्यशैली की समीक्षा करना,उनकी आलोचना करना
  • प्रकाशन या प्रकाशन सामग्री का अधिकार अर्थात किस खबर प्रसारित करना है
  • मीडिया माध्यम का मूल्य/शुल्क निर्धारित करना ,माध्यम के प्रचार के लिए अपनी योजनानुसार ,सरकारी दबाव से मुक्त रहकर संबंधी गतिविधि चलाना

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *