पत्रकारिता क्या है ?

आज कल हर कोई एक ऐसा करियर बनाना चाहता है जिसमे वो कुछ रचनात्मक कर सके। एक ऐसा करियर जो उसके गुणों और काबिलियत और भी निखार दे। एक ऐसा करियर जो उसके पसंदीदा विषय से जुड़ा हो। हर किसी के लिए उसका पसंदीदा विषय अलग अलग हो सकता है। पत्रकारिता यानी जर्नलिज्म समय के साथ बहुत बदल चूका है। जैसा की आप सब जानते है कि जल्द ही 12 वीं बोर्ड परीक्षा शुरू होने वाले हैं। इसके बाद क्या करें ? किस दिशा में अपना करियर बनाये जैसे सवाल हर किसी के मन में उठेंगे। अगर आप ने 12वीं में आर्ट्स स्ट्रीम लिया है और आप मीडिया में करियर बनाना चाहते है तो इस लेख को पढ़ें। इस लेख में हम आपको बताएंगे कि कैसे आप पत्रकारिता में भविष्य बना सकते हैं। हर किसी के मन में आता है कि एक कोर्स करने के बाद उसके लिए रोजगार के क्या अवसर होंगे। अगर आप भी जानना चाहते हैं कि पत्रकारिता के क्षेत्र में रोजगार के अवसर क्या हैं तो बिना समय व्यर्थ किये इस एक ही आर्टिकल में पत्रकारिता में भविष्य की पूरी जानकारी लें।

पत्रकारिता यानी कि जर्नलिज्म जो पहले के अनुसार बहुत बदल गया है। नई-नई तकनीकों और तकनीकी क्रांति के कारण भी इसमें बहुत बदलाव आये हैं। पहले जहाँ पत्रकारिता सिर्फ अखबार ,रेडियो, पत्रिकाएं और टीवी तक ही सिमित थी अब ऑनलाइन पत्रकारिता भी इस कतार में शामिल हो गई है। 12 वीं के बाद आप भी पत्रकारिता में भविष्य बना सकते हैं। इसके लिए आप 12 वीं के बाद पत्रकारिता में डिप्लोमा कोर्स या पत्रकारिता में सर्टिफिकेट कोर्स भी कर सकतें हैं। इसके अतिरिक्त भारत में बड़े -बड़े कॉलेज और यूनिवर्सिटी में जर्नलिज्म में डिग्री कोर्स भी करवाया जाता है। सिर्फ यहीं तक ही नहीं अगर आप आगे भी जर्नलिज्म की ही पढ़ाई करना चाहते हैं तो स्नातक के बाद जर्नलिज्म में पीजी और पीएचडी भी कर सकते है।

पत्रकारिता क्या है ?

पत्रकारिता आधुनिक समय में एक महत्वपूर्ण व्यवसाय बन गया है। जिसमे समाचार का एकत्रीकरण, समाचार लिखना, सारी जानकारियों को जुटाना, सम्पादित करना और सम्यक प्रस्तुतिकरण जैसे काम करने होते हैं। आज के समय में पत्रकारिता के अनेक माध्यम हो गए हैं जैसे कि अखबार, पत्रिकाएं , दूरदर्शन, रेडियो , वेब-पत्रकारिता आदि। जैस-जैसे इंटरनेट चर्चित हुआ है वैसे -वैसे पत्रकारिता ने भी अपने आप को विस्तृत किया है। अब हर कोई दुनिया में घट रही घटनाओं को और समाचारों को सबसे पहले जाना चाहता है। सब चाहते है कि वे बिना समय व्यर्थ किए मोबाइल में ही सारी जानकरी प्राप्त कर लें । जिस कारण पत्रकारिता ने अपने कार्य क्षेत्र को भी बहुत बढ़ाया है। अगर आपकी भी रूचि  समाचार ,दुनिया में घट रही घटनाओं में और लिखने में है, तो आप भी पत्रकारिता में अपना करियर बना सकते हैं। इस लेख के माध्यम से हम आपको बताएंगे कि पत्रकार बनने के लिए क्या करें , कहाँ से पत्रकारित कोर्स कर सकते हैं , 12वी के बाद कैसे पत्रकारिता में करियर बना सकते हैं ?

पत्रकार कैसे बने ?

अगर आपकी भी रूचि  समाचार में , दुनिया में घट रही घटनाओं में और लिखने में है, तो आपके लिए पत्रकार बनना कोई बड़ी बात नहीं है। पत्रकार बनने के लिए सबसे महत्वपूर्ण चीज़ सच्चाई और ईमानदारी है। अगर आप सच्चाई के साथ खड़े हैं और ईमानदारी से अपना कार्य करते है तो आपको पत्रकार बनने से कोई नहीं रोक सकता है। अगर देखा जाए तो पत्रकारिता का इतिहास हमारी आज़ादी से भी पहले का है। उस समय पत्रकारिता के लिए कोई कोर्स या विशेष संस्थान नहीं थे। पर आज के तकनिकी युग में और बढ़ते प्रतियोगिता के कारण इन संस्थाओं का एक व्यक्ति को प्रकार बनाने में बहुत बड़ा योगदान है। भारत में ऐसे बहुत सारे सरकारी संस्थान और यूनिवर्सिटी हैं जो पत्रकारिता में डिप्लोमा कोर्स पत्रकारिता में सर्टिफिकेट कोर्सपत्रकारिता में ग्रेजुएशन और पोस्ट ग्रेजुएशन लेवल के कोर्स करवाते हैं।

पत्रकारिता में करियर

अगर आप भी पत्रकारिता में करियर बनाना चाहते हैं तो ये बात जान लें कि पत्रकारिता एक बहुत विस्तृत क्षेत्र है। पत्रकारिता एक ऐसा विषय है जहाँ आप अपने पसंदीदा विषय के अनुसार आप अपना करियर बना सकते हैं। एक मीडिया हाउस में पत्रकारिता से सम्बंधित लगभग 27 अलग-अलग विभाग होते हैं। इसमें आप अपने पसंदीदा विषय के अनुसार एक विषय को अपने करियर के रूप में चुन सकते हैं। अगर आपकी रूचि लॉ में है तो आप विधि पत्रकारिता कर सकतें हैं, अगर आपकी रूचि इकोनॉमिक्स है तो आप आर्थिक पत्रकारिता कर सकते हैं, अगर आप की रूचि पॉलिटिक्स में है तो आप राजनैतिक पत्रकारिता कर सकते हैं।

ऐसे ही आप 27 विभागों में से किसी भी विभाग में अपनी रूचि के अनुसार करियर बना सकते है। पत्रकार को एक बुद्धिजीवी इंसान माना जाता है, एक ऐसा इंसान जो आमलोगों से कुछ हट कर सोचते और लिखते है। अगर आप भी किसी विषय को लेकर ऐसे ही अलग नजरिया रखतें है और उसे लिखने में रूचि रखतें हैं तो आप भी पत्रकार बन सकते हैं। क्योंकि पत्रकार हमेशा सिक्के के दोनों पहलुओं को देखने में दिलचस्पी रखते है। अगर आप सोच रहें है कि पत्रकारिता पाठ्यक्रम  करने के बाद पत्रकारिता के क्षेत्र में नौकरी के क्या-क्या अवसर है। पत्रकारिता प्रशिक्षण के बाद आप किसी न्यूज़ एजेंसी में काम कर सकते हैं, न्यूज़ वेबसाइट  में,  प्रोडक्शन हाउस में , प्राइवेट या सरकारी न्यूज़ चैनल में , प्रसार भर्ती में , रेडियो चैनल में, फिल्म मेकिंग में, किसी कंपनी में पीआर की तरह काम कर सकते हैं।

अगर आप पत्रकारिता का कोर्स चाहते है तो बताएं दें कि पत्रकारिता पाठ्यक्रम करने के बाद आप गवर्नमेंट सेक्टर और प्राइवेट सेक्टर दोनों  में काम कर सकते है। प्राइवेट सेक्टर में आप न्यूज़ चैनल, प्रोडक्शन हाउस, प्राइवेट रेडियो चैनल, फिल्म मार्किंग जैसे काम कर सकते हैं। बहुत से ऐसे प्राइवेट न्यूज़ चैनल हैं जहाँ समय-समय नौकरी के लिए आवेदन निकलते रहतें है। इसके अलावा आप प्राइवेट पब्लिकेशन हाउस में भी काम कर सकते हैं। अगर बात करें गोवेर्मेंट सेक्टर में जॉब की तो आप लोक सभा और राज्य सभा जैसे न्यूज़ चैनल के लिए काम कर सकते हैं। दूरदर्शन और आकाशवाणी में भी आप काम कर सकते हैं। इसके अलावा आप रोज़गार समाचार में भी काम कर सकते हैं।

पत्रकारिता कार्यक्षेत्र और करियर ऑप्शन

अगर आप भी पत्रकारिता कोर्स करना चाहते हैं पर इस बात को लेकर दुविधा में है कि इसके आगे क्या करें। पत्रकारिता पाठ्यक्रम   करने के बाद इसका कार्य क्षेत्र और करियर ऑप्शन क्या होगा तो आप निचे दिए गए बिंदुओं को पढ़ें।

  • एडिटर
  • कार्टूनिस्ट
  • फोटो जर्नलिज्म
  • प्रूफ रीडर
  • फीचर लेखक
  • लीडर राइटर
  • विशेष रिपोर्टर
  • आलोचक
  • प्रस्तुतकर्ता
  • शोधकर्ता
  • रिपोर्टर
  • ब्रॉडकास्ट रिपोर्टर
  • स्तम्भकार (कॉलमनिस्ट )

पत्रकारिता के विभाग

अगर आप जर्नलिज्म कोर्स करना चाहते हैं तो ये जरुरी है कि आप पहले से ही निर्धारित कर लें कि आप किस फील्ड में जाना चाहते हैं। पत्रकारिता के लिए अलग-अलग फील्ड है जैसे कि -प्रिंट जर्नलिज्म , इलेक्ट्रॉनिक जर्नलिज्म, वेब पत्रकारिता, पब्लिक रिलेशन आदि।पत्रकारिता में विषय के अनुसार अलग-अलग विभाग होते हैं। आप अपने पसंदीदा विषय के अनुसार अपने विभाग का चुनाव कर सकते हैं। हर क्षेत्र के लिए अलग विभाग होता है। नीचे कुछ विभाग के नाम दिए जा रहे हैं।

  1. खोजी पत्रकारिता (इनवेस्टिगेटिव जर्नलिज्म)
  2. पीत पत्रकारिता (येलो जर्नलिज्म)
  3. बाल पत्रकारिता
  4. खेल पत्रकारिता
  5. आर्थिक पत्रकारिता (इकनोमिक जर्नलिज्म)
  6. ग्रामीण पत्रकारिता
  7. व्याख्यात्मक पत्रकारिता
  8. विकास पत्रकारिता
  9. सन्दर्भ पत्रकारिता
  10. संसदीय पत्रकारिता
  11. रेडियो पत्रकारिता
  12. टीवी पत्रकारिता
  13. दूरदर्शन पत्रकारिता
  14. फोटो पत्रकारिता
  15. विधि पत्रकारिता
  16. अंतरिक्ष पत्रकारिता
  17. रक्षा पत्रकारिता
  18. सर्वोदय पत्रकारिता
  19. फिल्म पत्रकारिता
  20. महिला पत्रकारिता

पत्रकारिता के प्रमुख कोर्सेस

पत्रकार बनने के लिए आप कभी भी पढ़ाई शुरू कर सकते हैं। आप 12 वीं के बाद भी सीधे जर्नलिज्म के डिग्री कोर्स में प्रवेश ले सकते हैं। इसके लिए बहुत से संस्थान और यूनिवर्सिटी में प्रवेश परीक्षा भी आयोजित करते हैं। कुछ संस्थान या कॉलेज 12 वीं बोर्ड में प्राप्त अंक के अनुसार भी एडमिशन देते हैं। पत्रकारिता में प्रमुख कोर्सेस नीचे तालिका में दी जा रही है।

क्रमांककोर्स का नामअवधि
1.बीए इन जर्नलिज्म3 वर्ष
2.बीए इन जर्नलिज्म एंड मास कम्युनिकेशन3 वर्ष
3.बैचलर इन जर्नलिज्म3 वर्ष
4.बैचलर इन जर्नलिज्म एंड मास कम्युनिकेशन3 वर्ष
5.बी.एससी इन जर्नलिज्म एंड मास कम्युनिकेशन3 वर्ष
6.बीए इन मीडिया एंड कम्युनिकेशन3 वर्ष
7.बीए इन मीडिया एंड कम्युनिकेशन मैनेजमेंट3 वर्ष
8.बीए इन मीडिया एंड कम्युनिकेशन डिज़ाइन3 वर्ष
9.बीए इन मीडिया स्टडीज3 वर्ष
10.बैचलर ऑफ़ मास मीडिया3 वर्ष
11.बीबीए इन मास कम्युनिकेशन एंड जर्नलिज्म3 वर्ष
12.डिप्लोमा इन जर्नलिज्म1 वर्ष
13.एम.ए  इन जर्नलिज्म2  वर्ष
14.एम.ए  इन जर्नलिस्म एंड मास कम्युनिकेशन2 वर्ष
15.एमजेएमसी2  वर्ष
16.पीजी  डिप्लोमा इन एडवर्टिसमेंट एंड पब्लिक रिलेशन1 वर्ष

पत्रकारिता के लिए योग्यता

अगर आप पत्रकारिता कोर्स करना चाहते हैं तो जरुरी है कि आप ने 12वीं कक्षा उत्तीर्ण किया हो। पत्रकारिता करने के लिए आपको मानसिक रूप से मजबूत होना होगा। क्योंकि आप को काम डेस्क पर भी करना होगा और बाहर फील्ड में भी। जर्नलिस्ट होने के लिए बेहतर कम्युनिकेशन स्किल की भी आवश्यकता है। जर्नलिस्ट होने के लिए लिखने, एडिटंग करने और खोज करने की अच्छी क्षमता होनी चाहिए। अगर आप डेस्क में काम करेंगे तो जरुरी है कि आपको कंप्यूटर ज्ञान भी होना चाहिए। इसके अलावा जरुरी है की आप समय का सही से प्रबंधन करते हो। चीज़ों का गहराई में पड़ताल करने की योग्यता भी चाहिए। इसके अलावा पत्रकार होने के लिए सत्यनिष्ठ और ईमनादार होना भी जरुरी है।

पत्रकारिता में वेतन

अगर आप भी पत्रकारिता कोर्स करने की सोच रहें हैं और कोर्स के बाद नौकरी में मिलने वाले वेतन को लेकर भर्मित है तो यहां हम उस दुविधा का हल लाएं हैं। एक जर्नलिस्ट की पूरे वर्ष की सैलरी 20,0000 से 50,0000 के बीच हो सकता है। अगर भारत में जर्नलिस्ट की सैलरी की बात करें तो यहां शुरुआती सैलरी 10,000 से 20,000 होती है। पर धीरे-धीरे जैसे अनुभव होता रहता है सैलरी भी बढ़ती रहती है। एक सीनियर रिपोर्टर की सैलरी जिसे 10 से 12 वर्ष का अनुभव हो उसकी सैलरी 1-2 लाख रु.और चीफ एडिटर की 5 लाख या उससे भी अधिक हो सकती है।अंत में यही कहना सही होगा की कार्य अनुभव किसी भी कार्य क्षेत्र में बहुत महत्वपूर्ण होता हैं। जैसे -जैसे अनुभव बढ़ता जायेगा सैलरी भी बढ़ती रहेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *