समाचार पत्र एक ऐसा दस्तावेज होता है जिस पर आम जनता विश्वास करती है

समाचार पत्र एक ऐसा दस्तावेज होता है जिस पर आम जनता विश्वास करती है और उसमें लिखी बातों को सत्य मानती है लिखी गई बातो का कोई प्रमाण नहीं मागंती परंतु वर्तमान समय में समाचार पत्रों की जैसे बाढ़ आ गई कुछ पूंजीपति लोग अपने स्वार्थ पूर्ति के लिए समाचार पत्र का प्रकाशन प्रारंभ कर दिए इसके कारण समाचार पत्रों की विश्वसनीयता थोड़ा प्रभावित अवश्य ही परंतु विश्वसनीयता समाप्त नहीं हुई वर्तमान में प्रदेश से कई समाचार पत्रों का प्रकाशन हो रहा है कोई समाचार पत्र चेन पेपर है जो एक ही टाइटल से अनेकों जगह से प्रकाशित होता है उसे चेन पेपर कहते हैं जिसे गैर सरकारी विज्ञापन एजेंसी से भी विज्ञापन प्राप्त होते हैं और जो समाचार पत्र मात्र एक ही एडिशन प्रकाशित करते हैं उन्हें गैर सरकारी विज्ञापन कम मात्रा में प्राप्त होते हैं और ऐसे समाचार पत्र सिर्फ सरकारी विज्ञापनों के भरोसे समाचार पत्र का प्रकाशन करते हैं जिस कारण समाचार पत्रों की रीढ जो विज्ञापन के रूप में जानी जाती है काफी कमजोर रहती है इस कारण या तो उनका प्रकाशन बंद हो जाता है या अन्य स्रोतों से आमदनी कर समाचार पत्र का प्रकाशन नियमित बनाए रखते हैं कुछ समाचार पत्र के प्रबंधक अपने दूसरे धंधे को चलाने के लिए समाचार पत्रों के प्रकाशन करते हैं ताकि उनके अनियमित कार्यों पर सरकारी शिकंजे ना कसने पाए और उनकी खदानों का कार्य अन्य व्यापार की अनियमितताओं की जांच नहीं हो इसके लिए सरकारी अधिकारियों पर दबाव बनाने के लिए समाचार पत्र का प्रकाशन करते हैं इसके अलावा भी गैर तरीके से भूमि हड़पने का कार्य करते हैं क्योंकि समाचार पत्र का प्रकाशन होता है तो राजनीतिक लोग और मंत्री गणों एवं वरिष्ठ अधिकारियों को अपने कार्यालय में संवाद के बहाने बुलाकर अपने काले कारनामों को दबाने का प्रयास करते हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *